” विचारों की लस्सी “

Facebook, Insta और Twitter नेले रखी है जान ,ना चाहते हुए भी जाता है बार-बारइन पर ध्यान ,हम भी हो जाते हैं fussy ,और बनने लग जाती है विचारों की लस्सी । Beauty और fashion वीडियो देखकर ,बढ़ जाता है depression ,Inner beauty से टूट सा जाता है connection ,दूसरों की figure तो लगे पतलीContinue reading “” विचारों की लस्सी “”

” मां – बाप “

जिस बच्चे को दुनिया में लाने के लिएमां सौ दुख झेलती है ,वही मां आज किसी काम की नहीं ,जो बाप बच्चे की हर सुख – सुविधा के लिएअपनी हर खुशी का बलिदान देता है ,उसे ही दुनियादारी की समझ नहीं ,जिस छोटे बच्चे की तुतलाती भाषामां-बाप झट से समझ जाते थे ,आज वही बच्चाContinue reading “” मां – बाप “”

Create your website with WordPress.com
Get started